Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe

प्रश्नावली का अर्थ, परिभाषाएं, प्रकार, विशेषता – Questionnaire in Hindi

प्रश्नावली का अर्थ, परिभाषाएं, प्रकार, विशेषता

Questionnaire in Hindi

प्रश्नावली का अर्थ, परिभाषाएं, प्रकार, विशेषता - Questionnaire in Hindi

क्या है प्रश्नावली 

प्रश्नावली

आज के इस पोस्ट में मैं आपको प्रश्नावली के बारे में बताऊंगा प्रश्नावली समाजशास्त्र में उपयोग होने वाली एक ऐसी विधि है जो साक्षात्कार कर्ता इस्तेमाल करता है साक्षात्कार करने में।

प्रश्नावली एक अत्यंत प्रभावशाली विधि है समाजशास्त्रीय विषय में जो कि किसी भी प्रकार के सर्वे एवं किसी भी प्रकार की जानकारी को एकत्रित करने में बहुत सहायक होती है।

प्रश्नावली का अर्थ

प्रश्नावली प्रश्नों या कथनों का एक ऐसा समूह है इसके माध्यम से व्यक्ति से हम सवाल पूछ कर सूचना एकत्रित कर सकते हैं।

प्रश्नावली अनुसंधान करने का एक ऐसा औजार है जिसमें लोगों से सूचना एकत्रित करने के लिए उनसे बहुत से प्रश्न पूछ पाते हैं और वह उनके जवाब दे पाते हैं।

प्रश्नावली विधि की खोज 1998 में लंदन में की गई थी।

प्रश्नावली की परिभाषाएं – Questionnaire in Hindi

प्रश्नावली की परिभाषा सैनपाऊ यंग के अनुसार

सेन पाउ यंग कहते हैं प्रश्नावली प्रश्नों की एक ऐसी अनुसूची है जिसे कि निवेदन के रूप में चुने हुए व्यक्तियों के पास डाक द्वारा भेजा जाता है।

प्रश्नावली की परिभाषा बोगार्डिस के अनुसार

प्रश्नावली की परिभाषा में बोगार्डिस कहते हैं कि प्रश्नावली विभिन्न व्यक्तियों को उत्तर देने के लिए प्रोत्साहित की गई एक प्रश्नों की खुली सूची है।

प्रश्नावली की परिभाषा गुंडे एवं हॉट के अनुसार

गुडी एवं हॉट प्रश्नावली की परिभाषा में कहते हैं कि सामान्यता प्रश्नावली शब्दों से तात्पर्य प्रश्न के उत्तर प्राप्त करने से है।

यह भी पढ़े प्रश्नावली का अर्थ, परिभाषाएं, प्रकार, विशेषता के अलावा 

Sociology defination in Hindi

What is social research in Hindi

What is प्रश्नावली (Questionnaire) in Sociology 

(साक्षात्कार) – Social interview in Social Research Types in Hindi

चिंतन का त्रिस्तरीय नियम in Hindi

 

प्रश्नावली के प्रकार – Questionnaire in Hindi

प्रश्नावली का प्रकार 1

तथ्य संबंधी प्रश्नावली

इस प्रश्नावली का प्रयोग किसी समूह की सामाजिक आर्थिक दशाओं से संबंधित जानकारी को संग्रह करने के लिए किया जाता है। हम किसी व्यक्ति की आयु, धर्म, जाति, शिक्षा, विभाग व्यवसाय, पारिवारिक रचना आदि के बारे में सूचनाएं एकत्रित करना चाहते हैं तो इस रचना का प्रयोग एवं प्रकार का प्रयोग किया जा सकता है।

प्रश्नावली का प्रकार 2

मत एवं मनोवृति संबंधी प्रश्नावली

प्रश्नावली के इस प्रकार में जब हम किसी भी सूचना दाता की रुचि, राय, मत, विचारधारा, विश्वास एवं दृष्टिकोण के बारे में जानना चाहते हैं तब हम इस प्रकार का इस्तेमाल करते हैं।

बाजार सर्वेक्षण, जनमत संग्रह, विज्ञान तथा टेलिफोन एवं रेडियो कार्यक्रम के बारे में लोगों के विचार जानने के लिए इस प्रकार की प्रणाली का निर्माण होता है।

प्रश्नावली का प्रकार 3

संरचित प्रश्नावली

इस प्रकार की प्रश्नावली का उपयोग साक्षात्कार करता या अनुसंधानकर्ता निर्माण अनुसंधान प्रारंभ करने से पूर्व विषय पर लोगों की राय सामाजिक स्वास्थ्य जन कल्याण की योजनाएं लोगों का रहन सहन की दशा अपव्यय आदि के बारे में सूचना एकत्रित करने के लिए करता है

प्रश्नावली का प्रकार 4

संरचित प्रश्नावली

इस प्रकार की प्रश्नावली में पहले से ही प्रश्नों का निर्माण नहीं किया जाता है वर्ण केवल उन विषयों एवं प्रसंगों का उल्लेख किया जाता है जिनके बारे में सूचनाएं संकलन की तरह कार्य करती हैं इस प्रकार की प्रश्नावली में उत्तर जाता खुलकर अपने बारे में अभिव्यक्त कर सकते हैं।

प्रश्नावली का प्रकार 5

मिश्रित प्रश्नावली

इस प्रकार की प्रश्नावली वर्णित सभी प्रकार की प्रश्नावली यों की विशेषताएं होती है इसमें खुली प्रश्नावली का निर्माण होता है ऐसी प्रश्नावली कम और अधिक शिक्षित दोनों के लिए ही उपयोग में ली जाती है इसके द्वारा स्पष्ट तो सटीक उत्तर के साथ ही साथ उत्तर दाता के स्वतंत्र विचार जानने को मिल सकते हैं।

प्रश्नावली की विशेषताएं – Questionnaire in Hindi

  • प्रश्नावली अध्ययन किए जाने वाले विषय से संबंधित प्रश्नों की एक सूची होती है जिसे हम प्रश्नावली कहते हैं।
  • प्रश्नों को डाक द्वारा सूचना दाताओं के पास भेजा जाता है। स्थानीय स्तर पर वितरित भी किया जा सकता है प्रश्नावली को।
  • यह प्राथमिक सूचना संकलित करने की एक अप्रत्यक्ष विधि है।
  • प्रश्न सरल स्पष्ट तथा छोटे होने चाहिए एवं प्रश्न निश्चित अर्थ वाले होने चाहिए यह प्रश्नावली की विशेषता है।
  • प्रश्नों की संख्या आवश्यकता से अधिक ना हो।
  • यदि संभव हो तो उत्तर हां या नहीं है से होना चाहिए।
  • प्रश्नों का चुनाव ऐसा हो कि उक्त सूचना स्पष्ट रूप से प्राप्त की जा सकेगी है प्रश्नावली की मुख्य विशेषताओं में से एक है।
  • विषय से हट कर प्रश्नावली के प्रश्न नहीं होना चाहिए।
  • ऐसी प्रश्नों की रचना की जानी चाहिए जिसमें अभीमति की संभावना ना हो।
  • प्रश्नावली को भरकर सूचना दाता डाक द्वारा ही ही भेजा जा सकता है और स्थानीय लोगों द्वारा भी इसे साक्षात्कार करता के पास भी जाया जा सकता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.