भारत के प्रमुख किसान विद्रोह आन्दोलन – Famous Kisan andolan list

8 तरह के पीवीस...

भारत के प्रमुख किसान विद्रोह आन्दोलन – Famous Kisan andolan list

किसान विद्रोह क्या है 

अंग्रेजों ने भारतीय किसानों का शोषण बहुत बड़े पैमाने पर करने लगे थे जिस कारण भारतीय किसान अत्यधिक गरीब हो गया और उसने भारत के विभिन्न क्षेत्रों से विद्रोह प्रारंभ कर दिया ।

भारत के प्रमुख किसान विद्रोह

1. नील विद्रोह

2. चम्पारण सत्याग्रह

3. खेड़ा सत्याग्रह

4. अवध किसान सभा

5. मोपला आंदोलन

6. बारदोली सत्याग्रह

7. बिहार किसान सभा

[irp]

[irp]

[irp]

नील विद्रोह 

( 1859-60 ) यह बंगाल के नदियां जिला से प्रारंभ हुआ किसानों का आंदोलन था । इसका नेतृत्व दिगम्बर विश्वास तथा विष्णु विश्वास ने किया था । इसकी चर्चा दिग्बंधु मित्र की रचना नील दर्पण तथा हरिश्चन्द्र मुखर्जी की पुस्तक हिन्दू Patriotic में है ।

चम्पारण सत्याग्रह

( 1917 ) – यह बिहार के चम्पारण से प्रारंभ हुआ इसका नेतृत्व महात्मा गांधी ने किया । यह निलहे जमिंदारों के विरुद्ध एक आंदोलन था । ये जमींदार तीन कठिया पद्धति के तहत 20 कट्ठा खेत में जबरदस्ती 3 कट्ठे पर नील की खेती करवाते थे । एक बार नील बोने पर तीन साल के लिए खेत बंजर हो जाती है । महात्मा गांधी ने इस पद्धति को समाप्त करवा दिया ।

खेड़ा सत्याग्रह

( 1918 )  इसे गुजरात के खेड़ा से महात्मा गांधी ने प्रारंभ किया । अंग्रेज खेड़ा में आकाल पड़ने के बाद भी टेक्स वसुल कर रहे थे इसे महात्मा गांधी ने माफ करवा दिया ।

अवध किसान सभा

( 1920 ) – इसे रामचन्द्र ने प्रारंभ किया यह किसानों का एक संगठन था ।

मोपला आंदोलन

( 1920 – 22 ) – यह केरल ( मालावार ) तट के किसानों का एक आंदोलन था जिसका नेतृत्व अल्ली मुलसियर ने किया ।

बारदोली सत्याग्रह

( 1927 ) यह गुजरात के वारदोली से आकाल के दौरान टेक्स बसुलने के विरुद्ध एक आंदोलन था जिसका नेतृत्व बल्लभ भाई पटेल ने किया । इस आंदोलन की सफलता के बाद बारदोली की महिलाओं ने गांधी जी के माध्यम से बल्लभ भाई को सरदार की उपाधि दिया ।

बिहार किसान सभा

( 1929 ) – यह बिहार के किसानों का एक संगठन था जिसका नेतृत्व स्वामी सहजानंद ने किया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *