Business ko kaise manage kare online – बिजनेस को ऑनलाइन कैसे मैनेज करें

Business ko kaise manage kare online – बिजनेस को ऑनलाइन कैसे मैनेज करें


Business ko kaise manage kare online - बिजनेस को ऑनलाइन कैसे मैनेज करें


कोरोना के बाद बिजनेस वर्ल्ड में तेजी से बदलाव हो रहा है । कंपनियों का वर्किंग स्टाइल बदलने के साथ ही टेक्नोलॉजी के नए ट्रेंड तेजी से जगह बना रहे हैं । 

अमरीका या अन्य प्रभावित देशों में स्मॉल बिजनेस वर्चुअल असिस्टेंट जैसे नए टेक्नोलॉजिकल ट्रेंड पर अधिक फोकस कर रहे हैं अपने बिजनेस को मैनेज करने के लिए (Business ko manage kare online).

इंडिया जैसे विकासशील देशों में ट्रेडिशनल तरीकों के साथ वर्चुअल असिस्टेंट जैसे नए ट्रेंड बिजनेस के लिए काफी फायदेमंद हो सकते हैं।



टास्क देकर करें मैनेज बिजनेस को ऑनलाइन

स्टार्टअप या अन्य बिजनेस  टेक्नोलॉजी बेस्ड होने लगे हैं । चाहे आप किसी भी सेक्टर के बिजनेस में हों । इसलिए डेटा एनालिसिस व उसके अनुसार बिजनेस स्ट्रेटजी मुख्य पार्ट है । 

स्टार्टअप या स्मॉल बिजनेस को सबसे वर्चुअल असिस्टेंट को डेटा कलेक्शन और उसके रिसर्च का टास्क देने की जरूरत है । 

डेटा एनालिसिस के बाद भी आपकी सर्विस या प्रोडक्ट की मार्केट में क्या स्टेबिलिटी होगी , इसका अनुमान लगाया जा सकता है । 

डेटा रिसर्च और कलेक्शन का कार्य लगातार चलने वाला होता है । वर्चुअल असिस्टेंट और आपके बिजनेस के लिए यह कार्य टास्क लिस्ट में टॉप पर होना चाहिए ।

इ – मेल मैनेजमेंट से ऑनलाइन मैनेज करें बिजनेस

कंपनी के कुछ ऐसे इ – मेल अकाउंट होते हैं , जिनका उपयोग मार्केटिंग या कस्टमर फीडबैक के लिए किया जाता है । 

ऐसे अकाउंट पर निरंतर मेल आते रहते हैं , उन्हें मैनेज करना मुश्किल होता है । वर्चुअल असिस्टेंट की टास्क लिट्टी में आप इस कार्य को भी शामिल कर सकते हैं । 

इस टास्क के जरिए वीए ना केवल मेल को रीड करेगा , कोई महत्त्वपूर्ण सुझाव है या प्रोडक्ट या सर्विस को लेकर कोई गंभीर विषय है तो उसके बारे में भी आपको जानकारी देगा । 

प्रतिदिन आने वाले इ – मेल की संख्या , उनकी विस्तृत रिपोर्ट और संबंधित डिपार्टमेंट को उनकी जानकारी देना भी वीए की टू डू लिस्ट में शामिल होता है

सभी मीटिंग करे मैनेज ऑनलाइन बिजनेस के लिए

किसी भी बिजनेस पर्सन के लिए टाइम मैनेजमेंट बड़ा टास्क होता है । विशेषकर स्टार्टअप के लिए क्योंकि एंटरप्रेन्योर को लगातार मीटिंग , प्रजेंटेशन , ट्रैवलिंग जैसे काम लगातार करने होते हैं । 

स्वयं इस प्रकार के काम कर पाना कई मौकों पर एंटरप्रेन्योर के लिए मुश्किल होता है । ऐसे में वर्चुअल असिस्टेंट की टास्क लिस्ट में अपने कैलेंडर मैनेजमेंट को शामिल कर सकते हैं । 

वहीं , होटल बुकिंग , फ्लाइट संबंधित रिसर्च , यात्रा टिकट आदि के लिए भी आप उसकी सर्विस ले सकते हैं । 

इससे समय बचेगा , इवेंट , मीटिंग व अन्य तय कार्यों के लिए समय पर पहुंच सकते हैं । ऐसे में जरूरी है कि वीए से लगातार कनेक्ट रहें ।

ये भी हो कांट्रेक्ट में शामिल ऑनलाइन बिजनेस मैनेज करते समय

सोशल मीडिया आज के दौर के सा बिजनेस का मुख्य पार्ट बन गया है । बिजनेस की प्रजेंस से लेकर उसकी एक्टिविटी , मार्केटिंग , कस्टमर इंटरैक्शन आदि के लिए किसी भी कंपनी के सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का एक्टिव होना जरूरी है । 

इसके लिए सोशल मीडिया एक्सपर्ट की जरूरत होती है । बिजनेस के अन्य कार्यों के साथ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को एक्टिवली मैनेज नहीं कर सकते हैं । 

सोशल मीडिया एक्सपर्ट वाले वर्चुअल असिस्टेंट अधिक उपयोगी है । जो ना केवल बिजनेस एक्टिविटी को मैनेज करें बल्कि ऐसे प्लेटफॉर्म पर कस्टमर प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में भी जानकारी एकत्रित करे ।

इस बात का रखें ध्यान बिजनेस को ऑनलाइन मैनेज करते समय

यदि  आप किसी फ्रीलांस वर्चुअल असिस्टेंट की सर्विस हायर करते हैं तो उसे अधिक टास्क देना संभव नहीं होगा । 

जबकि ऐसी किसी कंपनी की सर्विस अधिक मददगार साबित हो सकती है । किसी भी कंपनी को हायर करने से पूर्व उसके बारे में रिसर्च करें । 

जिस कंपनी का अनुभव , क्लाइंट , फीडबैक आदि बातें आपको पता होनी चाहिए । ऐसी कंपनियां किसी एक कार्य के लिए भी वर्चुअल असिस्टेंट उपलब्ध कराती हैं तो वहीं दूसरी ओर पैकेज का भी ऑप्शन देती हैं । 

यदि आपका स्टार्टअप शुरुआत दौर में है तो आपके लिए एक या अधिक से अधिक दो वर्चुअल असिस्टेंट की सर्विस आर्थिक रूप से फायदेमंद होगी ।